Tuesday, January 16, 2018

Aurangabadian

Haspura millennium cup cricket tournament| हसपुरा मिलेनियम कप टूर्नामेंट

Haspura millennium cup
हसपुरा मिलेनियम कप टूर्नामेंट सेरेमनी

हसपुरा में होने वाले मिलेनियम क्रिकेट टूर्नामेंट जो काफी लंबे समय से आयोजन होता रहा है। आयोजन कर्ता काफी उच्चस्तरीय मैच कराते है साथ मे दर्शक भी काफी आनंद लेते है। जी हां इस टूर्नामेंट के लिए जनवरी का महीना आते ही जहां पूरी दुनिया में नए साल का इंतजार शुरू हो जाता है, लेकिन  इसी औरंगाबाद जिले में एक ऐसी जगह जहां क्रिकेट प्रेमी लोग एक के बजाय 14 जनवरी का इंतजार करते हैं. जैसे-जैसे यह दिन नजदीक आता है, हर चौक-चौराहे, बाजार, खेत-खलिहान, दुकान-दफ्तर पर एक ही चर्चा होती है, मिलेनियम कप का ।
दरअसल, 14 जनवरी को हसपुरा में हर साल क्रिकेट का महा संग्राम शुरू होता है जिसमे  हर साल लगभग दस से बारह टीमों काफी दूर दूर  दूसरे जिले की टीमें भाग लेती है। इस सीरीज का ऐसा क्रेज है कि लोग खुद बखुद उस रोज आयोजन स्थल की तरह चले आते हैं. न सिर्फ उस गांव के बल्कि आस-पास के कई गांवों के लोगों के लिये यह एक यादगार मौका होता है. ये सीरीज 14 जनवरी यानी के इस दिन पर्व शकरात के अवशर  से शुरू हो के 26 जनवरी तक चलता है। 26 जनवरी को ग्रैंड फाइनल मैच का आयोजन होता है जिसमे दो टीमें जो फाइनल में पहुचती है वो खेलती है। इस फाइनल मैच में विजेता टीम को एक भव्य कप दिया जाता है। इतना ही नही मैच में खिलाड़ियों के द्वारा हर एक रन चौके छक्के विकेट हैट्रिक लेने पे हजारो रुपये का इनाम भी दिया जाता है। ये आयोजन वास्त्व में ग्रामीण इलाके में क्रिकेट की जो लोकप्रयिता है उसका बढ़वा देना है। ग्रामीण इलाके में कोई बड़ा आयोजन नही होता । इस आयोजन से लोगो को एक बढ़िया एंटरटेनमेंट का समय मिल जाता है। वैसे लोग मैच तो अपने टीबी और रेडियो पर ही देखे होंगे लेकिन इस आयोजन से उन्हें लाइव क्रिकेट मैच देखने को तो मिल जाता है।

यह सीरीज पिछले 16 वर्षों से हो रहा है पहले ये हाई स्कूल के छोटी फील्ड पे होती थी लेकिन इस साल से बड़ी फील्ड पे आयोजन हो रही है। इस मिलेनियम क्रिकेट मैच का आगाज आज से कई साल पहले शुरू किया गया था । पहला मैच सन 2001 में हुआ जिसमें दो जो टीम फाइनल में पहुँची वो हसपुरा और तरारी थी। उस मैच में हसपुरा ने 7 रानो जीत हासिल की थी लेकिन हसपुरा ने 2011 से कोई भी फाइनल मैच नही जीती है। मैच का स्टास्टिक नीचे दिए गए है।

 हसपुरा और आसपास के इलाके में भीड़ के हिसाब से स्थानीय कुंभ का दर्जा हासिल है. इस समारोह में न सिर्फ हसपुरा प्रखंड, बल्कि गोह, कलेर, दाउदनगर, अरवल, ओबरा आदि प्रखंड के लोग भी बहुत बड़ी संख्या में शामिल होते हैं.
इस नए साल के नए सीजन के मैच शेड्यू

अगर आप चाहते है की ऐसे ही बेहतरीन आर्टिकल पढना तो आप अपना ईमेल आई डी यहाँ डाले और सीधे पाए लेख अपने ईमेल पे :
आपको इस आर्टिकल को पढने के लिए और इस पेज पे विजिट के लिए धन्यवाद | आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताये निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में. आप अपना बहुमूल्य विचार निचे व्यक्त करें.