Wednesday, October 10, 2018

Aurangabadian

दाउदनगर नहर में मिला एक क्षात्र का शव शहर में सन्नाटा

नहर में क्षात्र का शव

दाउदनगर पटना रोड स्थित नहर पुल के पास से मंगलवार की सुबह एक 15 वर्षीय छात्र का शव बरामद किये जाने के बाद दाउदनगर में खूब हंगामा हुआ . शव मिलने के बाद परिजन व स्थानीय लोग आक्रोशित हो गये व सड़क जाम कर प्रदर्शन करने लगे दाउदनगर थाने के पास बवाल कर रहे आक्रोशितों को पुलिस ने खदेड़ दिया .


इस दौरान लाठीचार्ज भी हुआ . हालांकि कोई गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ , जानकारी के अनुसार , नहर में शव को देख कर वहां पर काफी संख्या में ग्रामीण इकट्ठा हो गये और नहर में शव होने की सूचना पुलिस को दी गयी इसके बाद दाउदनगर थाने की पुलिस ने पहुंच कर शव को निकलवाया कुछ देर तक मृतक की पहचान नहीं हो पा रही थी . उसके बाद उसके मोबाइल में लगे सिम के माध्यम से उसके घरवालों की सूचना दी गयी और उसकी पहचान दाउदनगर शहर के वार्ड संख्या 14 निवासी महावीर चबूतरा निवासी महेश गोस्वामी के 15 वर्षीय पुत्र अजय कुमार के रूप में की गयी . घटना की सूचना पाकर मृतक के परिजन एवं काफी संख्या में स्थानीय लोग दाउदनगर थाना पहुंच गये मृतक की मां , पिता व अन्य परिजनों का रोते रोते बुरा हाल था . मृतक के परिजनों ने इसे हत्या का मामला बताते हुए एक प्राथमिकी दाउदनगर थाने में दर्ज करायी है , जिसमें तीन लोगों को नामजद आरोपित बनाया गया है . मृतक के पिता महेश गोस्वामी द्वारा दर्ज करायी गयी प्राथमिकी में मुहल्ले के ही रणधीर कुमार , छेदी यादव व कांदूराम की गड़ही निवासी रंजन कुमार को नामजद आरोपित बनाते हुए कहा है कि 17 अप्रैल को महावीर चबूतरा गोला रोड निवासी रणधीर कुमार की बाइक चोरी हो गयी थी . तीन अक्तूबर की रात्रि करीब 10 बजे शराब के नशे में आरोपित ने उसके घर पर आकर गाली गलौज की और धमकी दी थी कि अजय उसकी बाइक दे दे , नहीं तो उसकी हत्या कर देंगे करीब चार महीने बाद उसकी बाइक मिल भी गयी थी . प्राथमिकी में मृतक के पिता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि आरोपितों ने सोमवार को अजय की हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया . थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है . मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल औरंगाबाद भेज दिया गया है . 



| मतक ‘ का शव जब नहर से निकाल कर पुलिस द्वारा |


दाउदनगर थाना लाया गया तो उसके बाद कुछ स्थानीय लोगों | द्वारा जमकर बवाल किया गया . बवाल कर रहे लोगों द्वारा हत्या की प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की जा रही थी . पहले | इन लोगों ने थाना गेट पर ही दाउदनगर - बारुण पथ को जाम | करने का प्रयास किया , लेकिन पुलिस ने हल्का बल का प्रयोग | कर इन्हें हटा दिया . इसके बाद काफी संख्या में युवा नगर के पहुंच गये सड़क टायर जलाकर | पर्षद मोड़ पास और पर . | प्रदर्शन करते हुये दाउदनगर - बारुण पथ को जाम कर दिया | कुछ समय तक सड़क जाम रहा जिसके बाद पुलिस ने | पहुंचकर जाम कर रहे लोगों को खदेड़ दिया और जलते हुए | टायर को पुलिस कर्मियों द्वारा बुझाया गया . । 


दाउदनगर थाना पर मृतक अजय कुमार का शव पहुंचने के करीब दो से तीन घंटा बाद जब शव की पहचान हो गई तो मृतक के परिजनों के पहुंचने के बाद प्राथमिकी दर्ज होने की प्रक्रिया शुरू की । गई .


एक तरफ जहां थाना में मृतक के परिजनों द्वारा प्राथमिकी आवेदन लिखा जा रहा था तो दूसरी तरफ कुछ युवा वर्ग के लोग हत्या की प्राथमिकी दर्ज नहीं करने का आरोप लगाते हुये सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे थे जबकि मृतक के पिता द्वारा तीन लोगों को नामजद आरोपित बनाते हुये ही प्राथमिकी दर्ज करायी जा रही थी . मृतक के पिता ने भी आक्रोशित युवाओं को जाम स्थल पर जाकर समझाया परंतु कुछ युवा वर्ग के लोग उसके बाद भी सड़क पर ही जमे हुये थे तब सब इंस्पेक्टर शेखर सौरभ के नेतृत्व में पुलिस ने पहुंचकर नगर पर्षद मोड़ के पास से जाम को हटवाया . मृतक अजय कुमार दसवीं कक्षा का छात्र था . बताया जाता है कि राष्ट्रीय इंटर स्कूल का विद्यार्थी था । और उसकी 10 वीं कक्षा की जांच परीक्षा चल रही थी . मृतक गरीब परिवार से आता है और उसके पिता मेहनत मजदूरी कर जीविकोपार्जन करते हैं उसे गोने लिखने का भी शौक था और वह गाना लिखकर अपने दोस्त को गाने के लिए भी देता था . । photo and input prabhatkhabar

अगर आप चाहते है की ऐसे ही बेहतरीन आर्टिकल पढना तो आप अपना ईमेल आई डी यहाँ डाले और सीधे पाए लेख अपने ईमेल पे :
आपको इस आर्टिकल को पढने के लिए और इस पेज पे विजिट के लिए धन्यवाद | आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताये निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में. आप अपना बहुमूल्य विचार निचे व्यक्त करें.