Sunday, October 7, 2018

Aurangabadian

औरंगाबाद जिले के रफीगंज में ट्रेन से कट कर हुई मौत

Men dead by train in rafiganj
रफीगंज में ट्रेन से कट कर मौत

रफीगंज औरंगाबाद  गया पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलखंड पर शनिवार को रफीगंज से सटे मदार नदी रेल पुल पर एक 70 वर्षीय चंद्रदीप यादव की ट्रेन से कट कर मौत हो गयी . मृतक नवादा जिले के नावाडीह गांव का रहनेवाला था और वर्तमान में अपने दामाद विजय यादव के घर पश्चिमी अमरपुरा गांव में रहता था .

जानकारी के अनुसार , शनिवार को बीमारी की हालत में चंद्रदीप यादव दवा लेने रेल पुल से पार कर जेजपा बाजार गया था लौटते वक्त रेल पुल पर एक एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी . इधर रेल पुल पर मौत की खबर सुन गांव के लोग आक्रोशित हो गये और घटनास्थल पर पहुंच कर पुल के नीचे शव के साथ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया लगभग चार घंटे तक लाख प्रयास के बावजूद पुलिस शव को हाथ नहीं लगा सकी .


घटना की सूचना मिलते ही एसडीओ डॉ प्रदीप कुमार , एसडीपीओ अनूप कुमार , बीडीओ रीतेश कुमार सिंह इंस्पेक्टर राजकुमार सिंह आरपीएफ इंस्पेक्टर सत्येंद्र कुमार , थानाध्यक्ष संजय कुमार सिन्हा पौथु थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और उग्र लोगों को समझाया . ग्रामीण श्रीकांत पूर्व मुखिया नरेश यादव , सूर्यदेव यादव राजवल्लभ पासवान विजय यादव सुरेश यादव , बद्री पासवान सुशील पासवान अनिरुद्ध रवानी व सच्चिदानंद यादव ने बताया कि हर वर्ष इसरेल पुल पर ट्रेन से कट कर किसी न किसी की मौत होती . पुल के अभाव में इस रेल पुल से ही पश्चिमी अमरपुरा दबुरा सिनवारी क्मुखाप महद्दीपुर दोसमा चतर खैरा नतलाल बिगहा के लोग जाखिम स्टेशन जाते हैं पुल पार करने के क्रम में ट्रेन से कट कर मौत होना आम बात हो गयी है .


जब तक पुल निर्माण व रेल पुल पर पाथ - वे नहीं बनेगा तब तक लोगों की जानें जाती रहेंगी . पता चला कि एसडीओ ने आक्रोशितों को बताया कि पाथ वे निर्माण की प्रक्रिया अंतिम चरण में है तथा पुल निर्माण के लिए विधायक द्वारा अनुशंसा विभाग को की गयी है . मृतक के परिजन को कबीर अंत्येष्टि योजना एवं अकुशल श्रमिक योजना के तहत सरकारी लाभ देने के लिए बीडीओ को निर्देश दिया गया है .

पदाधिकारियों के आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया . ज्ञात हो कि डेढ़ माह पूर्व इसी रेल पुल पर गांव के ही एक महंत की ट्रेन से कट कर मौत हो गयी थी जिसके कारण छह घंटे तक रेल परिचालन बाधित किया गया था .  input prabhatkhabar



अगर आप चाहते है की ऐसे ही बेहतरीन आर्टिकल पढना तो आप अपना ईमेल आई डी यहाँ डाले और सीधे पाए लेख अपने ईमेल पे :
आपको इस आर्टिकल को पढने के लिए और इस पेज पे विजिट के लिए धन्यवाद | आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताये निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में. आप अपना बहुमूल्य विचार निचे व्यक्त करें.